खुल्ला खागड़ Khulla Khagad Song Lyrics

Like Tweet Pin it Share Share Email
खुल्ला खागड़ Khulla Khagad हरियाणवी गाने के बोल मंजीत मेहरा ने लिखे है और रोहित हीरा और आरती बोर्चा ने गाया है जबकि खुल्ला खागड़ का म्यूजिक कृष्णा स्टूडियो ने दिया है, गाने में अंश मंधारे और कोमल सिंह ने अपनी अहम भूमिका निभाई हैं

Song Detail

  • Song – Khulla Khagad  खुल्ला खागड़ 
  • Singer – Rohit Heera 9813397011 & Aarti Borcha 
  • Artist – Ansh Mundhare 8285846305 & Komal Singh 
  • Writer – Manjeet Mehra 8447979261
  • Music – Krishana Recording Studio Meham 
  • Director – Manjeet Mehra 
  • LABEL – NDJ MUSIC
खुल्ला खागड़ Khulla Khagad Song Lyrics

खुल्ला खागड़ Khulla Khagad Song Lyrics

हटले परने मरजाणे क्यू जान ने होरा
ये ढाई दिन सब में आवे से क्यू तू ख़ान ने होरा
 
घर में सारे ताड़ मेरा पेटया कोन्या भरता
यो खुल्ला खागड मरजाणी खोर में कदे ना चरता
तू फिरे मलगा गाला में छोरिया ने टाक टाक
मैं जब भी देखु पावे से घर में जाख टाक
ओ मेरी जवानी का था तू भी ठन ने होरया
ये ढाई दिन सब में आवे से क्यू तू ख़ान ने होरा
 
जवानी की या झाल बैरन डाडी ना डडे रे
प्यार ते बतला बावली तू मत मारे भाटे रे
ओ मेरी गेल्या सेट्टिंग करके तेरा पटता ना पटता
यो खुल्ला खागड मरजाणी खोर में कदे ना चरता
 
जानू सू तेरी बाता ने क्यू मीठा मीठा बोले
मैं छोरी हाइ फ़ाई तू आगे पाछे डोले
ओ कुछ ना आनी जानी सिंगा माटी उठान ने होरा
ये ढाई दिन सब में आवे से क्यू तू ख़ान ने होरा
 
कटी सुखती आवे बैरन जोबन की या खेती
दो चार पनिला लगवाले बैरन होती आवे गेटी
फसल या काटन की होरी अब तेरा गोर ना करता
यो खुल्ला खागड मरजाणी खोर में कदे ना चरता

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *